First Indian Sky Bus to be launched soon

Sky bus is a unique mass transit system which can be put up within any two years in any crowded and congested city for safe transportation without loss of time.

स्काई बस एक अनोखा जनसंचार प्रणाली है जो कि किसी भी भीड़ भरे और भीड़भाड़ वाले शहर में सुरक्षित परिवहन के लिए जो की कहीं भी दो साल के अंदर बनाया जा सकता है, बिना किसी समय के नुकसान केI

After waiting for one year in Dharamsala, people will be able to enjoy traveling in Sky Bus. The Urban Development Department has prepared the report in this project. And the BOD of the Municipal Corporation Has already stamped itself. Now the road to the construction of Sky-Way has been completely cleared.

A provision of Rs. 250 crore has also been made for this project. Urban Development Minister Sudhir Sharma said that Dharamsala, which facilitates the Sky Bus, will become the first city in the country.

धर्मशाला, हिमाचल में अब एक साल के इंतजार के बाद लोग स्काई बस में सफर करने का लुत्फ उठा पाएंगे। इस प्रोजैक्ट में शहरी विकास विभाग ने बकायदा रिपोर्ट तैयार कर ली है और नगर निगम की बी.ओ.डी. पहले ही अपनी मुहर लगा चुकी है। अब स्काई-वे के निर्माण का रास्ता पूरी तरह से साफ हो चुका है।

इस प्रोजैक्ट के लिए 250 करोड़ रुपए का भी प्रावधान किया जा चुका है। शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा ने बताया कि स्काई बस की सुविधा देने वाला धर्मशाला देश का प्रथम शहर बन जाएगा।

Based on this proposal, the track will be constructed from Gaggal to Bhagusunag and Dharamsala via Fatehpur and to Dardh, this track will be 15.4 km. In the second phase, the length of the track will be increased, which has a total length of 11.8 kilometers, which will reach Gaggal with Gaggal airport and the other side will be extended to Sidhbari-Tapovan, with a plan to construct 2 stations.

इस प्रपोजल के आधार पर ट्रैक का निर्माण गग्गल से भागसूनाग व धर्मशाला से फतेहपुर होकर डाढ तक बनाया जाएगा, यह ट्रैक 15.4 किलोमीटर का रहेगा। दूसरे चरण में ट्रैक की लंबाई को बढ़ाया जाएगा, जिसकी कुल लंबाई 11.8 किलोमीटर है जोकि गग्गल एयरपोर्ट से जतेहड़ होते हुए गग्गल पहुंचेगा तथा दूसरी साइड सिद्धबाड़ी-तपोवन से होकर डाढ तक बढ़ाया जाएगा, जिसमें 2 स्टेशन बनाने की योजना बनाई गई है।

यह परियोजना देश में एक नयी पहल की शुरुआत होगीI शुरुआत हिमाचल में होने की वजह बाकी शहरों के लिए भी इसको इस्तेमाल करने का प्रोत्साहन मिलेगाI जिससे नई रोज़गार और भीड़ में कमी की शुरुआत होगीI साथ ही ये टूरिज्म को भढ़ावा देगाI

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *