Pradhanmantri Matritva Vandana Yojana UP | Rs 5000 for Pregnant Women

Uttar Pradesh government has decided to launch Pradhanmantri Matritva Vandana Yojana for women who are first time pregnant. First time pregnant women will be given Rs. 5000 under Matritva Vandana Yojana (PMMVY). They will get the amount in three installments. पहली बार मां बनने जा रही गर्भवती महिला को प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत पांच हजार रुपए दिए जाएंगे। उन्हें राशि तीन किश्तों में मिलेगी।

हितग्राहियों के चयन के लिए जिला और ब्लाॅक स्तर पर समिति का गठन किया जाएगा। For the selection of beneficiaries, the committee will be constituted at district and block levels. The district collector committee will be the collector’s collector. This scheme will benefit many women.

Scheme : Pradhanmantri Matritva Vandana Yojana 

Scheme Amount: Rs. 5000

Beneficary: First time pregnant Women

जिलास्तरीय समिति के अध्यक्ष कलेक्टर होंगे। महिला एवं बाल विकास विभाग के कार्यक्रम अधिकारी इसके सचिव होंगे। योजना के क्रियान्वयन के लिए शासन ने सभी जिलों के कलेक्टरों को पत्र भेज दिए हैं। प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना का लाभ सरकारी कर्मचारी नहीं उठा सकेंगे।

The Program Officer of the Women and Child Development Department will be its secretary. In order to implement the scheme, the government has sent letters to collectors of all the districts. Government employees will not be able to avail of this scheme.

Benefits of Pradhan Mantri Matritva Vandana Yojana (PMMVY):

  • Benefit will be given only for first baby only.
  • The amount will be provided in three phases directly in the bank account.
  • The first installment of Rs. 1000 will be provided after registration of the pregnancy woman.
  • The second installment of Rs. 2000 will be provided after six months,on check up of pregnant women.
  • The third installment of Rs. 2000 will be provided after birth of child is registered and has received the first cycle of BCG, OPV, DPT and Hepatitis-B or its equivalent.

योजना के तहत मिलने वाली राशि तीन किश्तों में दी जाएगी:

  • पहली किश्त में 1 हजार व दूसरी व तीसरी किश्त में 2- 2 हजार रुपए हितग्राही महिला को मिलेंगे।
  • योजना के क्रियान्वयन के लिए जिला से लेकर ग्राम स्तर तक समितियों का गठन होगा। ग्राम स्तर पर ग्राम स्वास्थ्य व स्वच्छता समिति हर माह बैठक कर योजना का क्रियान्वयन करेंगे। गांव में अगर बैंक है तो उसके शाखा प्रबंधक या फिर डाकघर प्रभारी को भी सदस्य बनाया जाएगा।

Pradhanmantri Matritva Vandana Scheme Details:

संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने और मातृ-शिशु मृत्यु दर रोकने के लिए प्रधानमंत्री मातृत्व वंदन योजना शुरू की है। कामकाजी महिलाओं को मां बनने के दौरान होने वाली क्षति की आंशिक पूर्ति है। साथ ही उन्हें कुछ समय आराम मिल सके। योजना में सरकारी कर्मचारी या फिर सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में काम करने वाले कर्मचारियों को शामिल नहीं किया जाएगा।

विश्व स्वास्थ्य संगठन, डब्ल्यूएचओ ने हाल ही में कहा कि गर्भावस्था के दौरान और बच्चे के जन्म के समय हर पांच मिनट पर एक भारतीय मां की मौत होती है। इसमें हर साल बच्चे के जन्म से जुड़ी 5 लाख 29 हजार महिलाओं की मौत होती है। उनमें 1 लाख 36 हजार यानी 25.7 फीसदी अकेले भारत में मौतें होती हैं।

How to Apply for Pradhanmantri Matritva Vandana Yojana:

योजना का लाभ उठाने के लिए आपको आंगनबाड़ी कारकर्ता / आशा या पास के सरकारी अस्पताल में संपर्क करना होगा।

जबकि सरकार की तरफ ये जिम्मेवारी योजना के तहत आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी सौंपी गई है कि वह अपने क्षेत्र की ऐसी महिलाओं की जानकारी एकत्रित करें जो पहली बार मां बनने जा रही है।

कार्यकर्ता ऐसी महिलाओं के आधार कार्ड, वोटर कार्ड व खाता नंबर एकत्रित कर महिला बाल विकास कार्यालय में जमा कराएंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *